CEAT स्पेशलिटी ने कल्की 2898 ए.डी. के साथ मिलकर ए.आई. वाहन के लिए लांच किए भविष्य के टायर

 


बुज्जी मुंबई, 18 जून : CEAT स्पेशलिटी ने बहुप्रतीक्षित फिल्म कल्की 2898 ए.डी. के साथ एक दिलचस्प साझेदारी की है। इस साझेदारी के तहत प्रभास अभिनीत इस फिल्म में दिखाए जाने वाले रोबोटिक वाहन ‘बुज्जी’ के लिए अत्याधुनिक टायर विकसित एवं लांच किए जाएंगे। इस साझेदारी से CEAT की अत्याधुनिक तकनीक एक बार फिर उजागर हो रही है और इससे मोबिलिटी के भविष्य को आकार देने की कंपनी की प्रतिबद्धता पुख्ता होती है।
कल्की 2898 ए.डी. को नाग अश्विन ने निर्देशित किया है, इसमें भविष्य की दुनिया की कहानी दर्शाई गई है जहां तकनीक बेहद उन्नत है और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस दैनिक जीवन का हिस्सा है। इस फिल्म में काम कर रहे अभिनेताओं की सूची अत्यंत आकर्षक है जिसमें शामिल हैं- प्रभास, दीपिका पादुकोण, अमिताभ बच्चन और कमल हासन। इस फिल्म एक और खास किरदार है ‘बुज्जी’ यह ए.आई. से चलने वाली कार है। यह कार भविष्यवादी डिजाइन एवं नवोन्मेष का शिखर है, जिसके लिए टायर भी उतने ही उन्नत एवं दूरदर्शी चाहिए जैसी की कार है।
बुज्जी को हॉलीवुड के हाइसु वांग ने डिजाइन किया है जो इससे पहले ब्लैक पैंथर के लिए भी वाहन डिजाइन कर चुके हैं। बुज्जी नाम की यह कार ऑटोमोटिव डिजाइन व टेक्नोलॉजी के भविष्य में एक लम्बी छलांग है। फिल्मकार एक ऐसी कार चाहते थे जो वांग के डिजाइन को जीवंत बना दे और CEAT स्पेशलिटी ने इस चुनौती को पूरा किया, और ऐसे टायरों की रचना की जो इस अभूतपूर्व वाहन को पूर्णता प्रदान करते हैं। 
CEAT स्पेशलिटी के मुख्य कार्यकारी अमित तोलानी ने इस परिवर्तनकारी प्रोजेक्ट पर अपने विचार साझा करते हुए कहा, ’’बुज्जी के लिए कल्की 2898 ए.डी. के साथ जुड़ना हमारे लिए एक अतुलनीय अवसर था। इससे हमें अपनी सीमाओं को विस्तार देने और नई तकनीकों व सामग्री का जायज़ा लेने का मौका मिला। द्युतिमान चैटर्जी और उनकी आर एंड डी टीम ने अपनी रचनात्मकता एवं इंजीनियरिंग कौशल से इस विज़न को जीवंत कर दिया। इस प्रोजेक्ट ने टायर इनोवेशन में हमारे भविष्य का मंच का स्थापित कर दिया है। हमारी टीम और हमारे टायर सही मायनों में जिज्ञासुओं के लिए तैयार किए गए हैं, वे हमें अनदेखे-अनजाने क्षेत्रों में ले जाते हैं और भविष्य की कल्पना करने की क्षमता प्रदान करते हैं।’’
CEAT स्पेशलिटी में आर एंड डी के प्रमुख द्युतिमान चैटर्जी ने कहा, ’’बुज्जी के लिए टायर की रचना करना प्रेरक भी था और यह बेहद अपेक्षाओं भरा काम भी था। इस अवसर से हमें एक विशिष्ट प्लैटफॉर्म मिला जहां हम नई तकनीकें व सामग्रियों को परख सकें और टायर डिजाइन के क्षेत्र में अब तक जो कुछ मुमकिन था उससे आगे जाने की कोशिश करें। CEAT स्पेशलिटी को अपने वर्ग में सर्वश्रेष्ठ ओटीआर टायर विकसित करने में अपने इंजीनियरिंग कौशल के लिए जाना जाता है और इस प्रोजेक्ट ने हमें चुनौती दी की हम अपने मापदंडों को कुछ और ऊपर उठाएं। इसने हमें न केवल बेहतरी की ओर प्रेरित किया बल्कि टायर टेक्नोलॉजी के भविष्य के बारे में मूल्यवान दृष्टिकोण भी दिया।’’
बुज्जी टायर का विकास पर्दे के पीछे की एक कमाल कहानी रही जिसमें गहन रचनात्मकता एवं सूक्ष्म इंजीनियरिंग शामिल थी। इस प्रक्रिया का आरंभ गहरे विचार-विमर्श की बैठकों के साथ हुआ जिनमें डिजाइनरों, इंजीनियरों और मैटेरियल वैज्ञानिकों ने मिलजुल कर संभावित डिजाइनों की संकल्पना तैयार की। बुज्जी के फ्यूचरिस्टिक लुक और क्षमताओं से प्रेरित होकर इस टीम ने मैटेरियल, टेक्नोलॉजी और ऐस्थेटिक के बारे में लम्बी चर्चाएं की। इन बैठकों में कई विज़नरी स्केच, डिजिटल मॉडल और पैटर्न प्रोटोटाईप निकल कर आए जिन्होंने टीम के विचारों को जीवन प्रदान किया।
इन टायरों की एक खासियत जो इन्हें सबसे अलग करती है वह है इनका अनूठा ब्लॉक डिजाइन। ए.आई. अल्गोरिद्म और फ्यूचरिस्टिक पैटर्न से प्रेरणा लेते हुए इस डिजाइन में जटिल खांचे व चैनल शामिल किए गए हैं जो इनकी परफॉरमेंस और विज़ुअल अपील में इज़ाफा करते हैं। ब्लॉक डिजाइन का सर्कुलर सपोर्ट बेस खास तौर पर सुपीरियर ट्रैक्शन व स्थिरता के लिए तैयार किया गया है ताकि वह बुज्जी की उन्नत क्षमताओं एवं शानदार स्पोर्टी लुक को पूर्णता प्रदान कर सके। 
इंजीनियरिंग उत्कृष्टता इस प्रोजेक्ट के मूल में थी। इन टायरों की चौड़ाई अधिक है, आस्पेक्ट रेश्यो 30 है जिससे इनकी बेहतरीन परफॉरमेंस और टॉर्क सुनिश्चित हो पाते हैं। इसके अलावा, ये टायर 4 टन तक का भार वहन कर सकते हैं जिसकी वजह से बहुत ही टिकाऊ और बुज्जी के मजबूत ढांचे को सपोर्ट करने के काबिल बन गए हैं। चौड़ा डिजाइन, बड़े रिम, न सिर्फ बुज्जी की दिखावट में वृद्धि करते हैं बल्कि साइड स्वे को भी न्यूनतम कर देते हैं जिससे एक सहज और स्थिर राइड मुमकिन होती है। कड़े सिमुलेशन और वास्तविक परीक्षणों ने डिजाइन को मान्य किया तथा सुपीरियर कॉर्नरिंग, स्टीयरिंग व ब्रेकिंग परफॉरमेंस के लिए टायरों को ऑप्टीमाइज़ किया - बुज्जी जैसे हाई-परफॉरमेंस वाहन के लिए ये सब जरूरी विशेषताएं हैं।
कल्की 2898 ए.डी. के साथ CEAT के गठबंधन ने टायर टेक्नोलॉजी में एक नया बेंचमार्क स्थापित किया है, यह उपलब्धि नवोन्मेष और उत्कृष्टता के लिए कंपनी की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। अपने बेहतरीन ऑफ-द-रोड टायरों के लिए प्रसिद्ध CEAT स्पेशलिटी इस काम के लिए फिल्म निर्माताओं की पहली पसंद थी क्योंकि इस उद्योग में अपनी विशेषज्ञता और साबित ट्रैक रिकॉर्ड के बल पर ऐसे फ्यूचरिस्टिक टायर निर्माण हेतु CEAT स्पेशलिटी ही सर्वोत्कृष्ट विकल्प है।
बुज्जी प्रोजेक्ट के दौरान CEAT स्पेशलिटी ने जो सबक सीखे हैं और जो तकनीकें विकसित की हैं वे कंपनी के भावी उत्पादों को आकार देने में बेहद महत्व की सिद्ध होंगी। कंपनी की सोच एकदम स्पष्ट हैः ऐसे टायरों का निर्माण जो न केवल कार्यपरक व भरोसेमंद हों बल्कि स्मार्ट, सस्टेनेबल और भविष्य की मोबिलिटी के लिए तैयार हों।
नवप्रवर्तन और अग्रगामी दृष्टिकोण की विरासत के साथ CEAT ऑटोमोटिव उत्कृष्टता के अगले युग में नेतृत्व के लिए तैयार है। बुज्जी और कल्की 2898 ए.डी. के साथ इस सफर ने CEAT के पथ को रोशन किया है और इसलिए कंपनी का भविष्य और फ्यूचरिस्टिक टायरों का विज़न संभावनाओं से भरपूर है।

 
Previous Post Next Post

Recent Post

Features